2700 बच्चों को 25 विभिन्न खेलों में किया प्रशिक्षित।

0

बीएसपी द्वारा आयोजित ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर- 2024 (मिनी ओलंपिक) का समापन* सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा आयोजित ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर समापन समारोह, 08 जून 2024 को पंत स्टेडियम, सेक्टर-01 के फुटबॉल ग्राउंड में संध्या 6.00 बजे, संयंत्र के निदेशक प्रभारी श्री अनिर्बान दासगुप्ता के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। समारोह की अध्यक्षता कार्यपालक निदेशक (मानव संसाधन) श्री पवन कुमार द्वारा की गई। इस अवसर पर श्री अनिर्बान दासगुप्ता के साथ संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (परियोजनाएं) श्री एस मुखोपाध्याय, कार्यपालक निदेशक (मानव संसाधन) श्री पवन कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रभारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवांयें) डॉ एम रविन्द्रनाथ एवं कार्यकारी कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) श्री ए के श्रीवास्तव, मुख्य महाप्रबंधक (मानव संसाधन) श्री संदीप माथुर, मुख्य महाप्रबंधक (टीएसडी एवं सीएसआर) श्री जे वाय सपकाले, मुख्य महाप्रबंधक (पर्यावरण प्रबंधन) श्री डी एल मोइत्रा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे। साथ ही मुख्य महाप्रबंधक (परियोजनाएं) श्री आर के श्रीवास्तव, महाप्रबंधक (सीएसआर) श्री शिवराजन नायर, महाप्रबंधक (मानव संसाधन) श्री एच शेखर, महाप्रबंधक (नगर सेवाएं) श्री विष्णु पाठक, महाप्रबंधक (निदेशक प्रभारी सचिवालय) श्री अतुल नौटियाल महाप्रबंधक (कार्मिक नॉन वर्क्स एंड माइंस) श्री एस के सोनी, महासचिव (ओए) श्री परविंदर सिंह मंचस्थ थे। इस अवसर पर संयंत्र के विभिन्न विभागों के मुख्य महाप्रबंधकगण, महाप्रबंधकगण एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण सहित विभिन्न खेलों के प्रतिभागी एवं प्रशिक्षक, शिक्षा विभाग के पीटीआई, विभागीय कार्यकर्ता एवं अन्य खेल प्रेमी भी भारी संख्या में उपस्थित रहे। मुख्य आतिथि निदेशक प्रभारी श्री अनिर्बान दासगुप्ता ने उपस्थित सभी अतिथियों खिलाड़ियों प्रशिक्षकों एवं अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा, कि मुझे बहुत हर्ष हो रहा है कि हर साल इस ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर में बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है और जैसा कि कार्यपालक निदेशक श्री पवन कुमार ने कहा, हम आपके सहयोग से जल्दी ही अंचल का सबसे बड़े पैमाने पर आयोजित होने वाले समर कोचिंग शिविर का प्रथम स्थान प्राप्त कर लेंगे। उन्होंने प्रतिभागी बच्चों को संबोधित करते हुए कहा, खेल के बहुत सारे लाभ मिलते हैं, जैसे बच्चे मोबाइल से दूर रहते हैं, शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहता है, एक स्पोर्ट्स पर्सन स्पिरिट के रूप में खेल भावना सीखते हैं, पढ़ाई और नजरिया में भी उन्नति होती है। सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देते हुए बीएसपी के निदेशक प्रभारी ने कहा, कि आप सभी अपने माता-पिता, स्कूल और भिलाई के साथ साथ अपने देश का नाम रोशन करें। उन्होंने इस शिविर को आयोजित करने वाले सभी संबद्ध विभागों से कहा की प्राकृतिक परेशानियों के बावजूद भी इस ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर को बड़े पैमाने पर आयोजित करने के लिए आप सब ने बहुत मेहनत की है इसके लिए मैं आप सभी का आभार व्यक्त करता हूं। समारोह की अध्यक्षता कर रहे कार्यपालक निदेशक (मानव संसाधन) श्री पवन कुमार ने सभी को संबोधित करते हुए कहा, कि पहले तो इन छोटे-छोटे बच्चों को देखकर मुझे लगा कि यह मासूम बच्चे क्या कर पाएंगे और इन्होंने क्या सीखा होगा? लेकिन इन नन्हें छोटे बच्चों की परफॉर्मेंस देखकर मेरी बोलती बंद हो गई। उन्होंने सभी प्रतिभागीशाली खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए शिविर के सफल समापन के लिए बहुत-बहुत बधाई दी। उन्होंने कहा, प्राप्त जानकारी के अनुसार यह तीसरा सबसे बड़ा समर कोचिंग शिविर है जो 1977 से शुरू किया गया है और हम आगे भी प्रयासरत रहेंगे कि हम इसे प्रथम स्थान पर ला सके। उन्होंने सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दी एवं प्रशिक्षकों को ऐसे उच्च स्तर का प्रशिक्षण देने के लिए धन्यवाद दिया। समापन समारोह के अवसर पर खिलाडियों द्वारा कुछ खेलों का शानदार प्रदर्शन भी किया गया। जिसमें बच्चों द्वारा शानदार मानव पिरामिड बनाया गया, साथ ही इस प्रदर्शन में जिम्नास्टिक, काता, कराटे, जूडो, बाॅक्सिंग, कुश्ती आदि शामिल थे। निदेशक प्रभारी श्री अनिर्बान दासगुप्ता ने आसमान में गुब्बारे छोड़कर ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर का समापन किया। समापन समारोह के स्वागत उद्बोधन मे उप महाप्रबंधक (क्रीड़ा, संस्कृतिक एवं नागरिक सुविधाएं) श्री एस आर जाखड़ ने ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण के बारे में बताते हुए कहा कि 1977 से अब तक बीएसपी द्वारा आयोजित प्रशिक्षण से 70000 बच्चे यहां से प्रशिक्षित हुए हैं। जिसमें से लगभग 150 बच्चे अब अब तक नेशनल खेल चुके हैं और अच्छी नौकरी में पदस्थ हैं। साथ ही 600-800 बच्चे स्टेट खेल चुके हैं। श्री जाखड़ ने इस आयोजन में सहयोग करने वाले सभी सदस्यों, डीपीएस जैसी इस्पात नगरी की सभी शालाओं को भी धन्यवाद दिया। ज्ञात हो कि प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी भिलाई इस्पात संयंत्र के क्रीडा, सांस्कृतिक एवं नागरिक सुविधाएं विभाग द्वारा, 10 मई 2024 से 08 जून 2024 तक ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण शिविर के दौरान 41 खेल परिसरों में 135 अनुभवी प्रशिक्षकों (कोच) द्वारा लगभग 2700 बच्चों को 25 विभिन्न खेलों में प्रशिक्षित किया गया। इस ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर के सफल आयोजन में, भिलाई इस्पात संयंत्र के क्रीडा, सांस्कृतिक एवं नागरिक सुविधाएं, सीएसआर तथा शिक्षा विभागों ने सक्रिय भूमिका अदा की। विदित हो कि ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर-2024 का विधिवत उद्घाटन समारोह, मौसम सम्बन्धी कारणों की वजह से संयंत्र प्रबंधन द्वारा आयोजित नहीं किया जा सका। यद्यपि 10 मई से ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर में शामिल 25 खेलों का विभिन्न खेल परिसरों में बच्चों को प्रशिक्षित किया जाना प्रारंभ हो चुका था। प्रतिवर्ष आयोजित इस शिविर में बच्चे बड़ी संख्या में भाग लेकर प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं। ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर-2024 में शामिल 25 खेलों में एथलेटिक्स, बैडमिन्टन, बॉल बैडमिन्टन, बास्केटबॉल, बॉक्सिंग, शतरंज, क्रिकेट, फुटबॉल, हैंण्डबॉल, हॉकी, जूडो, पावर लिफ्टिंग, कबड्डी, टेनिस, टेबल टेनिस, वालीबॉल, योगा, सायकल पोलो, कराटे, फेंसिंग, जिम्नास्टिक, खो-खो, नेटबॉल, भारोत्तोलन तथा कुश्ती शामिल है। इन सभी खेलों का विभिन्न खेल परिसरों, शालाओं के हॉल एवं क्रीड़ागणों में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस समापन समारोह में अतिथियों द्वारा विभिन्न खेलों के प्रशिक्षकों को पुरस्कार व प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। साथ ही इन सभी प्रतिभागियों को सेल- बीएसपी का टी शर्ट, स्वीट बॉक्स और मिल्कशेक प्रदान किये गए। इस कोचिंग कैम्प में सभी बच्चों को इनकी क्षमता के अनुरूप गढा गया और इनकी प्रतिभा को और निखारा गया। इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन श्री सुप्रियो सेन ने किया।प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षुओं को खेल उपकरण भी उपलब्ध कराए जाते हैं। भिलाई इस्पात संयंत्र एकमात्र ऐसा संगठन है जो खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने इस तरह का विशाल खेल प्रशिक्षण सुविधा का विगत 50 वर्षों से आयोजन करता आ रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed